चलो, कोच साहब का काम तो हो गया पूरा.. हो गयी ट्रेनिंग ।
पर ज्यादा उत्साहित नही होने का.. रस्सी लम्बी है ये।