ब्रासीलिया । कोरोना के प्रकोप से जूझ रही दुनिया में ब्राजील के हालात बेहद खतरनाक होते जा रहे हैं। यहां मरने वालों की आंकड़ा 30 हजार के आंकड़े को पार कर गई। पिछले में 24 घंटे में ही ब्राजील में 1262 लोगों की मौत हो गई है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की ओर से जारी ताजा आंकड़ों में कहा गया है कि कोरोना वायरस से संक्रमण के 28,936 नए मामले सामने आए हैं। ब्राजील अब दुनिया में कोरोना वायरस का दूसरा सबसे बड़ा गढ़ बन चुका है। ब्राजील में अब अमेरिका के बाद सबसे ज्‍यादा कोरोना वायरस के मामले (555,383) हैं। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की ओर से जारी मौतों का आधिकारिक आंकड़ा 31,199 पहुंच गया। अमेरिका, ब्रिटेन और इटली के बाद ब्राजील में सबसे ज्‍यादा लोगों की कोरोना वायरस से मौत हुई है। विशेषज्ञों का अनुमान है कि ब्राजील में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्‍या 15 गुना ज्‍यादा है।
उन्‍होंने कहा कि 21 करोड़ लोगों की आबादी वाले ब्राजील में बहुत कम टेस्‍ट किए जा रहे हैं। चिंता करने वाली बात यह है कि साओ पाउलो शहर में मंगलवार को कोरोना वायरस के सबसे ज्‍यादा मामले आए और सबसे ज्‍यादा मौतें हुईं लेकिन वहां पर शॉपिंग मॉल और कार्यालयों को खोला जा रहा है। साओ पाउलो शहर में अकेले कोरोना वायरस के 120,000 मामले सामने आए हैं और 8 हजार लोगों की मौत हुई है। साओ पाउलो के मेयर ब्रूनो कोवास 15 जून के बाद गैर जरूरी बिजनेस को भी खोलने जा रहे हैं। कोरोना वायरस से दूसरे सबसे ज्‍यादा प्रभावित राज्‍य र‍िओ डी जेनेरिओ में भी समुद्री बीचों और बिजनेस को मंगलवार से खोलने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई। राज्‍य के संक्रामक रोग विशेषज्ञ राफेल गल्लिएज ने कहा कि वर्तमान स्थिति में कोरोना लॉकडाउन के कदमों में ढील देना आग में घी डालने की तरह से है। उधर, पूरी दुनिया में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्‍या 382,412 पहुंच गई है।