रांची । टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा ने कहा कि वह पहले से ही बड़ी पारी खेलने के लिए मानसिक रूप से तैयार थे। रोहित ने यहां दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जारी तीसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन दोहरा शतक लगाया था। रोहित ने कहा, 'पारी की शुरुआत करना मेरे लिए एक अच्छा अवसर था। जैसा कि मैंने विशाखापत्तनम टेस्ट के दौरान ही कहा था कि बल्लेबाजी की शुरुआत करने को लेकर मेरे और टीम प्रबंधन के बीच काफी लंबे समय से बातचीत चल रही थी। इसलिए मैं इसके लिए मानसिक रूप से तैयार था क्योंकि मुझे पता था कि ऐसे मौके कभी भी आ सकते हैं।'
अपने दोहरे शतक के बारे में रोहित ने कहा, 'मैं कहना चाहूंगा कि यह काफी चुनौतीपूर्ण था। सलामी बल्लेबाज के रुप में  केवल तीन टेस्ट ही खेलने के बावजूद मुझे पता है कि मुझे अभी लंबा रास्ता तय करना है। मैं इन तीन टेस्ट मैचों पर ज्यादा ध्यान नहीं दे रहा हूं।' रोहित ने सीरीज में अब तक 529 रन बनाये हैं और वह किसी एक टेस्ट सीरीज में 500 या उससे ज्यादा रन बनाने वाले पांचवें भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं। रोहित ने कहा, 'नंबर छह और सात की तुलना में पारी की शुरुआत करना काफी चुनौतीपूर्ण है।'