भोपाल। संघर्ष भारतीय जनता पार्टी और उसके हर कार्यकर्ता की पहचान रही है। विशेषकर मध्यप्रदेश के पार्टी कार्यकर्ता इसके लिए पूरे देश में जाने जाते हैं। हमारे संघर्ष का समय शुरू हो चुका है। हमें एकतरफ नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ एकजुट विरोधी दलों के दुष्प्रचार के विरोध में संघर्ष करना है, तो दूसरी तरफ प्रदेश की कांग्रेस सरकार द्वारा हमारे कार्यकर्ताओं को डराने-धमकाने के लिए की जा रही द्वेषपूर्ण कार्रवाई के खिलाफ संघर्ष करना है। यह वैचारिक युद्ध है, धर्मयुद्ध है। भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता, पदाधिकारी और जनप्रतिनिधि इस युद्ध में पूरी सक्रियता से शामिल हों और मैदान संभालें। यह आह्वान पार्टी के प्रदेश स्तरीय आवश्यक बैठक में मंचासीन वरिष्ठ नेताओं ने किया। बैठक में आजीवन सहयोग निधि एवं अन्य विषयों पर विस्तार से चर्चा हुई। शुक्रवार को हुई इस बैठक में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद राकेश सिंह, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा, प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव एवं पूर्व मंत्री एवं मुख्य सचेतक डॉ. नरोत्तम मिश्रा मंचासीन थे।


सरकार की ज्यादती के खिलाफ 24 को पूरी ताकत से मैदान में उतरें : राकेश सिंह
बैठक को संबोधित करते हुए पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद राकेश सिंह ने कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार मूल मुद्दों से ध्यान बंटाने के लिए नए-नए विषय लेकर आती है और वर्तमान में जो अतिक्रमण विरोधी मुहिम चल रही है, वह भी ऐसा ही हथकंडा है, जिसमें साफ तौर पर ज्यादती की जा रही है। सरकार की इस ज्यादती के खिलाफ हमें 24 तारीख को पूरी ताकत के साथ मैदान में उतरना है और पूरे प्रदेश में जोरदार प्रदर्शन करना है।


जहां अन्याय-अत्याचार दिखे, जूझ जाओः शिवराज सिंह चौहान
बैठक को संबोधित करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि आंदोलन के लिये किसी बड़ी भारी पूर्व तैयारी या भूमिका की जरूरत नहीं होती। यह तात्कालिक विषय है। आपको जहां जनता परेशानी में दिखे, जूझ जाएं। जहां भी अन्याय और अत्याचार दिखे, जूझ जाओ। श्री चौहान ने वीर सावरकर जी का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने अपनी पुस्तक में देश के 6 स्वर्णिम अध्यायों की चर्चा की है। हमारी केंद्र सरकार के कार्यकाल में देश का यह सातवां स्वर्णिम अध्याय चल रहा है, जिसे लिखने का काम मोदी जी, अमित शाह जी की टीम कर रही है। 


कार्यकर्ताओं को डराने टारगेट करके कार्रवाई कर रही कांग्रेस सरकारः प्रभात झा
बैठक को संबोधित करते हुए पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं सांसद प्रभात झा ने कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार टारगेट करके कार्रवाई कर रही है, ताकि भाजपा कार्यकर्ता डर जाएं। प्रदेश के हर जिले में कार्यकर्ताओं को डराया-धमकाया जा रहा है। प्रशासन का जैसा दुरुपयोग कमलनाथ सरकार कर रही है, वैसा कभी नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि हमारा मूल स्वभाव ही संघर्ष का है और संघर्ष का समय आ गया है। हम अपने कार्यकर्ताओं के साथ डटकर खड़ा होना होगा। सरकार की इस ज्यादती के खिलाफ निडर होकर संघर्ष करें, लेकिन अनुशासित रहते हुए करें। 


रसूखदारों को छोड़कर गरीब ठेले और खोमचेवालों को बेदखल कर रही सरकार : भार्गव
बैठक को संबोधित करते हुए नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा कि मध्यप्रदेश में माफिया शब्द की शुरुआत बेईमानों ने की है। यह सरकार माफिया के नाम पर गरीब ठेलेवालों, गुमठी वालों, खोमचेवालों को निशाना बना रही है और कहती है कि माफिया खत्म कर दिया। जबकि रसूखदार लोग पूरी तरह बचे रहते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार की इस द्वेषपूर्ण कार्रवाई के खिलाफ कार्यकर्ता खड़े हों।

 

सीएए के पक्ष में जितने लोग सड़क पर उतरे, उससे 7 गुना मिस कॉल कराएं : भगत
बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेश संगठन महामंत्री सुहास भगत ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में प्रदेश के कई शहरों में अभूतपूर्व प्रदर्शन हुए हैं। लेकिन हमें यह ध्यान रखना होगा कि जितने लोग इस कानून के पक्ष में सड़कों पर उतरे हैं, उससे 6-7 गुना मिस कॉल कराएं ताकि उनका समर्थन दर्ज किया जा सके। मंच का संचालन प्रदेश महामंत्री बंशीलाल गुर्जर एवं आभार प्रदेश मंत्री कन्हाईराम रघुवंशी ने माना। बैठक में पार्टी के प्रदेश पदाधिकारी, प्रवक्ता, समस्त सांसद, विधायक, जिला अध्यक्ष, मोर्चा अध्यक्ष एवं संभागीय संगठन मंत्री उपस्थित थे।