नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर पूर्वोत्तर के राज्यों में विरोध बढ़ता ही जा रहा है। कई स्थानों पर आगजनी की घटनाएं हो रही हैं। असम में तीसरे दिन भी हिंसक विरोध प्रदर्शन जारी है। 

कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक है अशांति

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने नागरिकता विधेयक पर कहा, 'कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक अशांति है। लेकिन विधेयक के संसद के दोनों सदनों से पास हो जाने के बाद सबसे खराब स्थिति पूर्वोत्तर राज्यों में है। पूर्वात्तर राज्यों के लोग अपने धर्म से इतर विधेयक के खिलाफ हैं।'

प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस ने चलाई गोली

नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस ने लालुंगगांव में गोलियां चलाई। इसमें कुछ लोग कथित तौर पर घायल हो गए। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने दावा किया कि प्रदर्शकारियों ने पुलिसकर्मियों पर पत्थरबाजी की और ईंटे फेंकी और पुलिस ने जब उन्हें शांत कराने की कोशिश की तो ये लोग वहां से नहीं हटे।अधिकारी ने गोलीबारी में घायल लोगों की संख्या नहीं बताई लेकिन प्रदर्शनकारियों का दावा है कि कम से कम चार लोग घायल हुए हैं।

भ्रमित करने वाला बयान दे रहे हैं राहुल गांधी

नागरिकता विधेयक पर उत्तर पूर्वी क्षेत्र के विकास के लिए केंद्रीय राज्य मंत्री जीतेंद्र सिंह ने कहा, 'राहुल गांधी ने कल भ्रमित करने वाला बयान दिया। अपनी राजनीतिक किस्मत को चमकाने के लिए विरोध की बहती ब्रह्मपुत्र में हाथ धो रहे हैं।' बता दे कि ब्रह्मपुत्र असम की प्रमुख नदी है।
 

मुख्यमंत्री ने लोगों से की अपील

असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने राज्य में हो रहे प्रदर्शन पर कहा, 'मैं लोगों से अपील करता हूं कि वह शांति बनाए रखें और भ्रमित होने से बचें।'

मुख्यमंत्री ने लोगों से की अपील

असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने राज्य में हो रहे प्रदर्शन पर कहा, 'मैं लोगों से अपील करता हूं कि वह शांति बनाए रखें और भ्रमित होने से बचें।'

सीएबी और एनआरसी के विरोध में वामदलों का देशव्यापी प्रदर्शन

सीपीआई और सीपीएम सहित अन्य सभी वामदलों ने नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएबी) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के विरोध में 19 दिसंबर को देशभर में साझा प्रदर्शन का आह्वान किया है। वामदलों माकपा, भाकपा, भाकपा माले, फॉरवर्ड ब्लॉक और रिवॉल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी ने सरकार के इन फैसलों के विरोध में अपनी सभी प्रादेशिक और जिला इकाईयों से 19 दिसंबर को प्रदर्शन आयोजित करने को कहा है।

केंद्रीय मंत्री के घर पर हमला

केंद्रीय मंत्री और डिब्रूगढ़ से भाजपा सांसद रामेश्वर तेली ने कहा कि बुधवार रात लगभग 11 बजे मेरे चाचा की दुकान में आग लगा दी गई और मेरे घर की बाउंड्री वॉल को भी प्रदर्शनकारियों ने क्षतिग्रस्त कर दिया। केंद्रीय मंत्री ने असम के लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की।

कर्फ्यू के कारण असम और त्रिपुरा में रणजी मैच रद्द

गुवाहाटी और अगरतला में रणजी ट्राफी मैचों के चौथे दिन का खेल रद्द कर दिया गया। मेजबान असम की टीम सेना खेल नियंत्रण बोर्ड से और त्रिपुरा की टीम झारखंड से खेल रही थी। बीसीसीआई महाप्रबंधक (क्रिकेट परिचालन) सबा करीम ने कहा कि प्रदेश संघ ने हमें नहीं खेलने की सलाह दी है। खिलाड़ियों को होटल में रहने के लिए कहा गया है। खिलाड़ियों की सुरक्षा सर्वोपरि है। वहीं नार्थईस्ट युनाइटेड एफसी और चेन्नइयिन एफसी के बीच इंडियन सुपर लीग फुटबाल का मैच अनिश्चित काल के लिये स्थगित कर दिया गया। यह मैच इंदिरा गांधी एथलेटिक्स स्टेडियम में खेला जाना था।

असम में सेना तो त्रिपुरा में असम राइफल्स तैनात

असम में सेना की पांच टुकड़ियां तैनात की गई है। वहीं असम राइफल्स की तीन टुकड़ियां त्रिपुरा में तैनात किए गए हैं।

त्रिपुरा, असम आने-जाने वाली सभी यात्री ट्रेनें निलंबित

असम और त्रिपुरा में हो रहे हिंसक विरोध प्रदर्शनों को देखते हुए रेलवे ने असम और त्रिपुरा आने-जाने वाली सभी यात्री ट्रेनों को निलंबित कर दिया और लंबी दूरी वाली ट्रेनों को गुवाहाटी में ही रोका जा रहा है। पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे के प्रवक्ता सुभानन चंदा ने बताया कि सुरक्षा स्थिति को देखते हुए यह फैसला बुधवार रात में लिया गया, जिसके बाद कई यात्री कामाख्या और गुवाहाटी में फंस गए। वहीं आरपीएफ कुमार के महानिदेशक अरुण कुमार ने बताया कि रेलवे सुरक्षा विशेष बल (आरपीएसएफ) की 12 कंपनियों को क्षेत्र में भेजा गया है।

गुवाहाटी में लोगों ने किया कर्फ्यू का उल्लंघन, सेना ने किया फ्लैग मार्च

असम में नागरिकता (संशोधन) विधेयक के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए लोगों ने गुरुवार सुबह कर्फ्यू का उल्लंघन किया। साथ ही राज्य में स्थिति तनावपूर्ण बनी रही और इस दौरान सेना ने फ्लैग मार्च भी किया। अखिल असम छात्र संगठन (आसू) ने विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया है। सेना ने शहर में सुबह फ्लैग मार्च निकला। भारी संख्या में नाकेबंदी के बाद असम के कई शहरों में सड़कों पर वाहन फंसे हुए हैं। पांच-छह वाहनों में आग भी लगा दी गई। राज्य के कई हिस्सों में भाजपा और असम गण परिषद (अगप) के नेताओं के घर पर भी हमले हुए।

अदालत में कैब के खिलाफ याचिका दाखिल

नागरिकता संशोधन विधेयक, 2019 के खिलाफ उच्चतम न्यायालय में पहली याचिका दाखिल की गई है। यह याचिका इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग ने दायर की है। उसका कहना है कि धर्म के आधार पर नागरिकता नहीं दी जा सकती है।

कोलकाता से डिब्रूगढ़ के बीच विमान सेवा रद्द

कोलकाता हवाई अड्डे के अधिकारी का कहना है कि कोलकाता से डिब्रूगढ़ के बीच जाने वाली सभी उड़ानों को रद्द कर दिया गया है। वहीं इंडिगो ने डिब्रूगढ़ से आने और जाने वाली फ्लाइट्स को आज के लिए रद्द कर दिया है। इंडिगो ने बयान जारी कर कहा है कि यात्री वैकल्पिक विमान चुन सकते हैं या फिर वह रिफंड पा सकते हैं।

प्रधानमंत्री ने असम के लोगों को दिया आश्वासन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 'मैं असम के अपने भाईयों और बहनों को यह आश्वासन देना चाहता हूं कि नागरिकता संशोधन विधेयक, 2019 के पास होने पर उन्हें चिंतित होने की जरूरत नहीं है। मैं उन्हें आश्वासन देना चाहता हूं कि कोई उनके अधिकार, विशिष्ट पहचान और सुंदर संस्कृति लेकर नहीं जाएगा। यह लगातार फलता-फूलता और विकसित होता रहेगा। केंद्र सरकार और मैं संविधान की भावना के अनुसार, असमिया लोगों के राजनीतिक, भाषाई, सांस्कृतिक और भूमि अधिकारों को संवैधानिक रूप से संरक्षित करने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं।'

असम और त्रिपुरा में इंटरनेट बंद

असम के दस जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवा बृहस्पतिवार शाम सात बजे तक बंद कर दी गई। असम में 31 ट्रेनें या तो रद्द करनी पड़ीं या उनका रूट घटा दिया गया। तिनसुखिया, जोरहाट और डिब्रूगढ़ में भी कर्फ्यू लगा दिया गया है। त्रिपुरा में दूसरे दिन भी इंटरनेट सेवाएं बंद रहीं।

मुख्यमंत्री सोनोवाल के आवास पर पथराव

असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल के डिब्रूगढ़ में लखीनगर स्थित आवास पर बुधवार रात प्रदर्शनकारियों ने पथराव किया। डिप्टी कमिश्नर पल्लव गोपाल झा ने बताया, पथराव में कुछ खिड़कियों को नुकसान पहुंचा है। वहीं, डिब्रूगढ़ में ही भाजपा विधायक प्रशंता फुकान सहित एक अन्य भाजपा नेता के घर को भी नुकसान पहुंचाया गया है।