पर्यावरण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा और जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने  आज विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर भारत भवन से 'रन फॉर इन्वायरनमेंट'' मिनी मैराथन को हरी-झण्डी दिखाकर वन विहार की ओर रवाना किया। मिनी मैराथन में सैकड़ों युवा शामिल हुए। युवाओं ने मिनी मैराथन के माध्यम से भोपालवासियों को स्वस्थ पर्यावरण कायम रखने और जलवायु परिवर्तन के खतरों से बचने के लिये अधिक से अधिक पौध-रोपण करने का संदेश दिया।

पर्यावरण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण के लिये सतत प्रयास करते रहना समाज के प्रत्येक व्यक्ति की नैतिक जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि आने वाली पीढ़ी को ग्लोबल वार्मिंग के खतरों से बचाने के लिये जरूरी है कि प्रत्येक व्यक्ति अपनी दिनचर्या में पर्यावरण संरक्षण कार्यों को भी शामिल करें।

जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि मिनी मैराथन में युवाओं की भागीदारी, पर्यावरण संरक्षण के प्रति उनकी सकारात्मक सोच का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि जब धरती पर हरियाली रहेगी, तभी जीवन में खुशहाली आयेगी।

मिनी मैराथन में सहभागी हुए पुरस्कृत

म.प्र. प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा आयोजित इस मैराथन में इसमें प्रमुख सचिव पर्यावरण श्री पंकज अग्रवाल, सामाजिक कार्यकर्ताओं और युवाओं ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। मंत्री द्वय ने मैराथन के महिला और पुरुष वर्ग के विजेताओं को पुरस्कार और प्रशस्ति-पत्र दिये। महिला वर्ग में सुश्री बुशरा खान गोरी को प्रथम, सुश्री मनीषा दुबे को द्वितीय और सुश्री मंजू यादव को तृतीय पुरस्कार दिया गया। पुरुष वर्ग में सुनील डाबर को प्रथम, सौरभ अंतिल को द्वितीय और मनीष शर्मा को तृतीय पुरस्कार दिया गया।