इन्दौर । संकष्टी चतुर्थी एवं बुधवार के उपलक्ष्य में 22 मई को सुबह 10 बजे से जूनी इंदौर चंद्रभागा स्थित प्राचीन पोटलीवाले रिद्धि-सिद्धि चिंतामण गणपति मंदिर में आम्र महोत्सव मनाया जाएगा। स्वर्णमंडित सिंहासन पर विराजित गणेशजी को इस महोत्सव में आम के विभिन्न प्रकार के एक हजार फलों से सजाया जाएगा। इन्हीं फलों से गणेशजी की अर्चना भी की जाएगी। 
मंदिर के पुजारी पं. गणेशप्रसाद पुराणिक एवं पं. दीपेश-मयंक पुराणिक ने बताया कि संकष्टी चतुर्थी के उपलक्ष्य में मंदिर पर सुबह 10 बजे पूजा-अर्चना के बाद आम्र रस से गणेश अथर्वशीर्ष पाठ से अभिषेक प्रारंभ होगा तथा गणेश सहस्त्र नामावली द्वारा आम के एक हजार फलों से गणेशजी की अर्चना की जाएगी। मंदिर पर प्रतिवर्ष आम्र महोत्सव मनाया जा रहा है। इसी श्रृंखला में बुधवार को मंदिर के गर्भगृह को आम्र पर्ण एवं अशोक के पत्तों से वाटिका के रूप में श्रृंगारित कर रात्रि में चंद्रोदय के समय महाआरती के बाद आम का प्रसाद भक्तों में वितरण किया जाएगा। बुधवार को चंद्रोदय रात्रि 10.21 बजे होगा। मंदिर पर आम्र महोत्सव की परंपरा बहुत पुरानी है। सुबह गणेशजी की चंदन का लेप लगाकर अभिषेक पूजन के बाद भोग लगाया जाएगा। भोग में आम से निर्मित मिष्ठान्न जैसे आम रस, आमपाक, आम के पापड़ एवं अन्य व्यंजन समर्पित किए जाएंगे। रात्रि में महाआरती के बाद यह प्रसाद भक्तों में वितरित किया जाएगा।