नई दिल्ली । देश के सबसे तेज तैराक कुशाग्र रावत 3 जुलाई से इटली में होने जा रही वर्ल्ड यूनिवर्सिटी चैंपियनशिप में भाग नहीं ले सकते। कुशाग्र के नाम 800 मीटर में राष्ट्रीय रेकॉर्ड है।इसके बावजूद उनका चयन न होना कई सवाल खड़े कर रहा है। इस तैराक ने इसी महीने की शुरुआत में बैंकॉक में स्पीडो थाइलैंड आयु वर्ग चैंपियनशिप के 800 मीटर फ्री स्टाइल वर्ग में 8 मिनट 7.99 सेकंड का समय निकालकर इस साल फिना वर्ल्ड चैंपियनशिप और 2020 टोक्यो ओलिंपिक्स के लिए ‘बी’ कट हासिल किया था। कुशाग्र 800 मीटर के सबसे तेज तैराक हैं और इस इवेंट में उनके नाम नैशनल रेकॉर्ड है लेकिन इसके बावजूद वह इस साल 3 जुलाई से इटली में होने जा रही वर्ल्ड यूनिवर्सिटी चैंपियनशिप में चाह कर भी भाग नहीं ले सकते। दरअसल वर्ल्ड यूनिवर्सिटी चैंपियनशिप के लिए ट्रायल 8 अप्रैल को कर्नाटक में आयोजित किए गए थे। उस दौरान कुशाग्र भारत में नहीं थे और फिना द्वारा आयोजित स्पीडो थाईलैंड तैराकी चैंपियनशिप में भाग ले रहे थे। अधिकारियों ने ट्रायल में अनुपस्थित के कारण उनका नाम वर्ल्ड यूनिवर्सिटी चैंपियनशिप से हटा दिया है।