छतरपुर। समूह में काम करने वाली एक 25 वर्षीय शादीशुदा युवती को मोबाइल फोन के जरिये एक युवक से प्रेम हो गया। प्रेम प्रसंग धीरे-धीरे इतना बढ़ा की युवती अपनी सात साल की बच्ची को छोड़कर युवक के साथ भाग गई। दिल्ली में रहने के बाद युवती अपने घर वापस आ गई। शनिवार को युवक जैसे ही गांव युवती को लेने पहुंचा तो वहां लड़की के पिता और युवक के बीच विवाद हुआ और युवक की हालत बिगड़ गई जिसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां पर उसकी मौत हो गई। 

जानकारी के अनुसार लवकुशनगर थाना के देवीखेड़ा निवासी राजेन्द्र नागर की पुत्री रक्षा नागर की 8 साल पहले देवीखेड़ा गांव में ही राजेन्द्र नागर पिता देवेन्द्र नागर के साथ शादी हुई थी जिसकी 7 साल की पुत्री अनुष्का भी है। दोनों पति-पत्नि के बीच हुए विवाद के कारण शादी टूट गई और रक्षा अपने पिता के घर रहने लगी। रक्षा गांव में समूह बनाकर महिलाओं को पैसे दिलाने का काम करती थी इसके लिए उसे मीटिंग में बाहर भी जाना पड़ता था। इस दौरान रक्षा की मुलाकात फोन पर आकाश नागर पिता करन निवासी भिण्ड मुरैना से हुई। धीरे-धीरे यह मुलाकात प्यार में बदल गई और एक दिन नौगांव में मीटिंग के बहाने रक्षा घर से आई और आकाश के साथ भाग गई। परिजनों ने बताया कि दोनों ने कोर्ट में शादी कर ली। कई दिन दिल्ली में रहने के बाद रक्षा अपने घर वापस आई तभी आकाश उसे लेने के लिए देवीखेड़ा पहुंच गया तभी आकाश और रक्षा के पिता के बीच कहा-सुनी हुई इसी दौरान आकाश की हालत बिगडऩे पर उसे जिला अस्पताल लाया गया जहां पर उसकी मौत हो गई। डॉक्टर की मानें तो आकाश को कुछ जहरीला पदार्थ पिलाया गया है जिससे उसकी मौत हुई है। वहीं रक्षा का कहना है कि वह आकाश के साथ भाग गई थी लेकिन जब उसे पता चला कि वह उसे बेच देगा इस डर से वह दिल्ली से घर भाग आई। आकाश जब घर आया तो मुझे ले जाने की बात कहने लगा तभी उसकी हालत बिगड़ गई और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। फिलहाल पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच में लिया है।