कोलकाता। चीन की कंपनी अलीबाबा की तर्ज पर मुकेश अंबानी की रिलायंस रीटेल भी बी2बी कॉमर्स के साथ डिजिटल होलसेल मार्केट प्लेटफॉर्म तैयार कर रही है। इसमें स्मार्टफोन, टीवी, कपड़े से लेकर मसाले, साबुन जैसे सामान भी उपलब्ध होंगे। बताया गया है कि दूर-दराज के गांवों तक भी ये सुविधा उपलब्ध करायी जाएगी। कंपनी ने बेंगलुरु की कंपनी अजियो बिजनेस के साथ इसका ट्रायल भी शुरू कर दिया है। इसमे 50,000 से ज्यादा वेंडर्स को शामिल करने का प्लान है। कंपनी के अधिकारियों के अनुसार जल्द ही इस बिजनेस को आंध्र प्रदेश और तेलंगाना तक भी प्रसारित किया जाएगा। अगले महीने से मुंबई में भी इसकी शुरुआत की जा सकती है जिसमें एफएमसीजी  और ग्रोसरी के प्रॉडक्ट उपलब्ध होंगे। अधिकारी के अनुसार रिलायंस रिटेल उन एक करोड़ किराना स्टोर को टारगेट करना चाहती है जो दिल्ली के सदर बजार के थोक विक्रेताओं या अन्य कंपनियों से अपना माल लेते हैं। कुछ शहरों में जर्मनी की मेट्रो एजी, वॉलमार्ट के बेस्ट प्राइस और रिलायंस के रिलायंस मार्केट जैसी कंपनियों द्वारा बेचा जाने वाला रोजाना इस्तेमाल का सामान कुल का केवल 10 प्रतिशत है। वहीं ऑर्गनाइज्ड होलसेलर्स द्वारा बेचे जाने वाले एफएमसीजी  प्रॉडक्ट कुल बिक्री का केवल 3-4 प्रतिशत हैं। रिलायंस रिटेलर बड़े डिस्ट्रिब्यूटर्स के साथ छोटे किराना दुकानदारों को जोड़कर गांव तक के ग्राहकों तक पहुंचना चाहती है।