योगी आदित्‍यनाथ की सरकार में मंत्री और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने एक बार फिर बगावती तेवर दिखाए हैं. उन्‍होंने बीजेपी को अल्‍टीमेटम तक दे डाला है. न्यूज18 से बातचीत में उन्होंने कहा कि 26 मार्च तक वह भाजपा की तरफ से समझौते में दी जाने वाली 5 सीटों की घोषणा का इंतजार करेंगे. इस तिथि तक बात नहीं बनी तो वह अलग रास्ते पर चल देंगे. सीटों के बंटवारे को लेकर नाराज चल रहे राजभर ने कहा कि जब अपना दल की सीटों का बंटवारा कर दिया गया तो हमारा क्यों नहीं? उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि हमारे लिए कांग्रेस और सपा बसपा के रास्ते खुले हैं.

बता दें कि मंत्री राजभर ने समझौते में पूर्वांचल की पांच सीटों की मांग की है. इन सीटों में सुरक्षित सीट लालगंज और मछली शहर में से कोई एक तथा सामान्य सीट घोसी, अंबेडकरनगर, जौनपुर और चंदौली हैं. बताया जाता है कि भाजपा राजभर को दो सीटें दे सकती है. पिछले दिनों लखनऊ में भाजपा के पदाधिकारियों ने राजभर की पार्टी के नेताओं को यह आश्वासन दिया था.

राजभर ने कहा है कि सीटें तय होने में विलंब होने से उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं में रोष है. देरी होने पर चुनाव की तैयारी पर असर पड़ेगा. बता दें कि देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में भी सात चरणों में वोटिंग होनी है. पहले चरण के लिए 11 अप्रैल को, दूसरे चरण के लिए 18 अप्रैल, तीसरे चरण के लिए 23 अप्रैल, चौथे चरण के लिए 29 अप्रैल, पांचवें चरण के लिए 6 मई, छठे चरण के लिए 12 मई और सातवें चरण के लिए 19 मई को वोटिेंग होगी. नतीजे 23 मई को आएंगे.