रायपुर। जींस और टीशर्ट के शौकीन युवा इन दिनों नेताओं को अपना आइकॉन मान रहे हैं। जी हां, आमतौर पर देखा जाता है कि हर युवा की पहली पसंद जींस-टीशर्ट है, लेकिन इन दिनों शहर के युवाओं के बीच फैशन का आलम कुछ और ही है। युवा नेताओं वाला पहनावा ज्यादा पसंद कर रहे हैं।

सदर बाजार स्थित भारत खादी भंडार के प्रकाश बल्लेवार का कहना है कि इन दिनों नेताओं और बड़ों से ज्यादा युवा नेताओं वाली खादी की ड्रेस खरीद रहे हैं। उन्होंने बताया कि उनके यहां से युवा तरह-तरह के डिजाइनर खादी के कपड़े खरीदकर सिलने के लिए दे रहे हैं। युवाओं के बीच यह चुनावी रंग फैशन का रूप बन चुका है। इन ड्रेसेस में खास तौर से कॉलर सूट के साथ हैवी गमछा और कुर्ता पैजामा विद जैकेट शामिल हैं।
छात्र सबसे आगे 

जो युवा पढ़-लिखकर कैरियर की ओर ध्यान देने लगे हैं, वे तो इस फैशन में कम शामिल हैं, लेकिन जो युवा अभी कॉलेज की पढ़ाई कर रहे हैं, वे उनके बीच नेताओं वाली ड्रेस का काफी के्रज है। छात्र सार्थक शर्मा और लॉ के छात्र कुणाल राठी ने बताया कि उनके कॉलेज में युवाओं के बीच नेताओं वाली ड्रेस का अच्छा खास के्रज है। इसमें चेक शर्ट, हाफ जैकेट, ब्लेजन और शेरवानी की मांग सबसे ज्यादा है। वहीं उनका कहना था कि ये युवा ज्यादतर मोदी ड्रेस को फॉलो करते हैं। साथ ही युवाओं के बीच उमर अब्दुल्ला, सचिन पायलट और ज्योतिरादित्य सिंधिया जैसे नेताओं का ड्रेसिंग स्टाइल भी युवाओं को खूब लुभा रहा है।

ड्रेसिंग सेंस का ख्याल रखकर युवाओं से मिल रहे नेता 

एक ओर जहां युवा नेताओं वाले परिधान के मुरीद होते जा रहे हैं। वहीं दूसरी ओर नेता भी युवाओं के बीच जाने से पहले ड्रेसिंग सेंस का काफी ध्यान रख रहे हैं। दुर्गा कॉलेज छात्र अमीर अली ने बताया कि पिछले दिनों ही एक पार्टी के नेता उनके ग्रूप से मिलने पहुंचे थे। अमीर का कहना था कि वे पहली बार नेता की ड्रेसिंग सेंस देखकर आचर्य में पड़ गए। आमतौर पर नेता जी साधार पोषाक पर ही अमीर के ग्रुप से मिला करते थे, लेकिन उस दिन उनका ड्रेसिंग सेंस काफी बेहतरीन था।
अगर कहा जाए की इस नेता महिलाओं के ड्रेसिंग सेंस को युवतियां हाथों-हाथ ले रहे हैं तो गलत नहीं होगा। वहीं पहनावे में सफेद और पेस्टल शेड्स भी युवतियों की पहली पसंद है। परिधान में अगर बात दुपट्टे और सूट के कॉम्बिनेशन पर की जाए तो एक सेट पैटर्न की डिमांड ज्यादा है। सिर पर लिया जाने वाला दुपट्टा पेस्टल शेड्स में लेती हैं और इस बात का विशेष ध्यान रखती हैं कि सूट और दुपट्टा सही तरीके से कैरी करें।