ग्वालियर। एसएसटी एवं एफएसटी टीम मुस्तैदीपूर्वक अपने दायित्व का निर्वहन करें। कहीं भी आचार संहिता का उल्लंघन पाए जाने पर भारत निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के तहत त्वरित कार्रवाई करें। यह भी महत्वपूर्ण है कि दोनों टीमें समन्वय से काम करें। यह निर्देश कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अनुराग चौधरी तथा पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन ने इन टीमों में शामिल अधिकारियों की बैठक सह प्रशिक्षण में दिए। उन्होंने कहा चुनावी दायित्व में उदासीनता पाए जाने पर सख्त कार्रवाई होगी।
मंगलवार को बाल भवन के सभागार में आयोजित हुई बैठक में एसएसटी तथा एफएसटी के सदस्यों के साथ बैठक रखी गई। बैठक में बताया गया कि एसएसटी टीम विभिन्न नाकों इत्यादि पर तैनात रहेंगीं। जिले में विधानसभा क्षेत्र के अनुसार तीन - तीन टीम गठित की गई हैं। इस प्रकार कुल 18 एफएसटी टीम हैं। टीमों को अवैध धन, शराब व अन्य मादक पदार्थ, संदेहास्पद सामग्री जिससे वोटर को लुभाया जा सकता हो, इत्यादि के परिवहन का निरीक्षण कर तत्काल कार्रवाई करनी है।  
कलेक्टर अनुराग चौधरी ने निर्देश दिए कि एसएसटी व एफएसटी द्वारा की गई कार्रवाई की वीडियो क्लिपिंग कोई भी व्यक्ति निर्धारित शुल्क जमा कर प्राप्त कर सकता है। इसलिए स्थल पर की गई कार्रवाई की वीडियोग्राफी अवश्य करें और की गई कार्रवाईयों की जानकारी लिखित में दें। पूरी कार्रवाई निष्पक्ष होकर और प्रावधानों का पालन करते हुए की जाए। उन्होंने कहा सी-विजिल एप के माध्यम से प्राप्त हुई शिकायतों का हर हाल में 100 मिनट के भीतर निराकरण करना है। इसलिए एफएसटी टीम में शामिल सभी अधिकारी नियमित रूप से अपने मोबाइल फोन में सी-विजिल एप का अवलोकन करते रहें और त्वरित कार्रवाई करें। उन्होंने कहा आचार संहिता का उल्लंघन होने पर केस दर्ज कराएं। 
पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन ने कहा कि कार्रवाई के दौरान टीम के सभी सदस्यों का व्यवहार सौम्य और शालीन होना चाहिए। उन्होने कहा निर्वाचन में पुलिस व प्रशासन  की टीम का आपसी समन्वय बहुत महत्वपूर्ण है। टीम में पुलिस व प्रशासन के सदस्यों को रखा गया है। टीमें मिलकर सतर्कता से काम करें। उन्होंने बताया कि पुलिस कंट्रोल रूम का गठन किया गया है। जिसका मोबाइल नम्बर 7049101029 है। किसी मामले में आवश्यकता होने पर तुरंत पुलिस कंट्रोल रूम में उक्त नम्बर पर सूचना दी जा सकती है। उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ने पर संबंधित थाना क्षेत्र की पुलिस को बुलाया जा सकता है। इसके अलावा डायल 100 को सूचित करें। पुलिस की ओर से पूरा सहयोग किया जायेगा। 
अपर कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी अनूप सिंह ने कहा कि विधानसभा चुनाव में टीमों द्वारा काम किया गया है। इसलिए एक अनुभव भी है। इसी का उपयोग करते हुए काम करना है। टीम अलर्ट होकर कार्रवाई करें। यह भी ध्यान रखें कि कार्रवाई नियमानुसार की जाए। एडीएम संदीप केरकेट्टा ने टीम के सदस्यों को बताया कि टीमों को कार्रवाई करते समय संदिग्ध मामलों पर फोकस करना है। उन्होंने कहा न केवल बड़े वाहन बल्कि छोटे वाहनों पर भी कड़ी निगरानी की जाए। कार्रवाई करते समय टीम के सदस्यों का व्यवहार संयमित होना चाहिए। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पंकज पाण्डेय ने भी अपने अनुभव साझा किए और टीम को मार्गदर्शन दिया। उन्होंने कहा कार्रवाई करते समय अपनी सुरक्षा का भी ध्यान रखें। किसी परिस्थिति में अतिरिक्त बल की आवश्यकता पड़ने पर तुरंत संबंधित क्षेत्र के पुलिस थाने को भी सूचित करें। 
बैठक सह प्रशिक्षण में एसएसटी व एफएसटी के सदस्यों से एक - एक कर चर्चा की गई। टीम के सदस्यों ने अपने अनुभव बताए। उन्होंने समस्याओं से भी अवगत कराया। जिस पर कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने आश्वासन दिया है कि समस्याओं का निराकरण करके टीम का सहयोग किया जाएगा।