भोपाल।  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री कमल नाथ ने आज दमोह से लोकसभा चुनाव-प्रचार का शंखनाद करते हुए केन्द्र की भाजपा सरकार पर हमला बोला। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि किसानों को छह हजार रूपये प्रतिवर्ष देने का एलान कर उनका अपमान किया है। प्रधानमंत्री ने 15 लाख रुपये देने का वादा किया था लेकिन नोटबंदी कर उन्होंने देश की जनता की थोडी-थोडी कर की गई बचत की रकम भी लूट ली। उन्होंने कहा कि पूर्व की भाजपा सरकार ने फिजूलखर्ची कर प्रदेश का खजाना खाली कर दिया। इस खाली खजाने के बीच हमने 25 लाख किसानों का कर्जा माफ किया है और अब हम मध्यप्रदेश में विकास का ऐसा इतिहास बनाएंगे जिसमें नौजवानों के पास काम होगा, किसानों के पास दाम होगा और महिलाओं सहित हर वर्ग का सम्मान होगा। नाथ आज दमोह में विशाल आम सभा को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री कमल नाथ की लोकसभा चुनाव का एलान होने के बाद पहली आमसभा है।
कमलनाथ ने कहा कि मात्र 80 दिन में हमने बताया है कि मंत्रालय से सरकार चलती है न कि फोटो समारोह या ढोल-मंजीरों से। उन्होंने कहा कि 80 दिन में नई सरकार ने काम करके बताया है। सबसे बड़ी चुनौती हमारे वचन-पत्र का पहला बिन्दु किसानों का कर्ज माफी था। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की घोषणा थी, जिसे पूरा करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता थी।
नाथ ने मोदी सरकार की तीखी आलोचना करते हुए कहा कि एक ओर राहुल गांधी लागत से कम मूल्य मिलने के कारण किसानों के सिर पर लदे कर्ज को उतारने के लिये उसे माफ करने की घोषणा कर रहे हैं तो दूसरी ओर हमारे देश के प्रधानमंत्री सिर्फ साल भर में छह हजार रुपये किसानों को देकर अपनी पीठ खुद थपथपा रहे हैं। जितना वे किसानों को दे नहीं रहे हैं, उससे अधिक उन्होंने अपनी इस घोषणा के प्रचार पर खर्च कर दिया। वे किसानों को प्रतिदिन 17 रुपये देकर कह रहे हैं कि अच्छे दिन आएंगे। अच्छे दिन तो सिर्फ भाजपा के नेताओं के आए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि मेक इन इंडिया, स्किल इंडिया, डिजिटल इंडिया के बड़े-बड़े नारे देकर प्रधानमंत्री ने देश के युवाओं को धोखा दिया है। आज देश में युवाओं को काम नहीं मिला, बल्कि बड़े पैमाने पर उनसे रोजगार छीन लिया गया है।
नाथ ने कहा किसान का जन्म कर्ज में होता और मृत्यु भी कर्ज में ही होती है। हम वचनवद्ध हैं कि किसानों के सिर से कर्ज का बोझ उतारेंगे। लगभग 24 लाख किसानों के कर्ज माफ करने की प्रकिया पूरी कर ली है। उन्होंने कहा मैं वचन देता हूँ कि कृषि के क्षेत्र में नई क्रांति लाई जायेगी। प्रदेश के 70 प्रतिशत लोग कृषि से जुड़े हैं। किसानों को फसल की सही कीमत मिले, यह हमारा लक्ष्य है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा किसानों को धान और उड़द की पूरी कीमत दी जायेगी। 
नाथ ने कहा है कि केन्द्र सरकार के पाँच साल और 80 दिन की मध्यप्रदेश सरकार की तस्वीर आपके सामने हैं, सच्चाई को समझिये, अपनाईये और सच्चाई का साथ दीजिये। उन्होंने कहा आपने प्रदेश में जो विश्वास कांग्रेस पार्टी को दिया है उसे अधूरा मत छोड़िये। मेरा विश्वास है, जिस प्रकार मध्यप्रदेश की विधानसभा में कांग्रेस का झंडा लहरा रहा है, उसी प्रकार संसद में भी लहरायेगा।