बीजिंग। चीन ने सोमवार को घरेलू एयरलाइन्स को आदेश दिया है कि वे बोइंग 737 मैक्स8 व्यावसायिक संचालन बंद करने के आदेश दिए हैं। इथोपिया की एयरलाइन्स के बोइंग विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने का हवाला देते हुए चीन ने यह कदम उठाया है। चीन के सिविल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन ने एक बयान में कहा कि 737 मैक्स 8 विमानों का परिचालन उड़ान सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए प्रासंगिक उपायों की पुष्टि के बाद फिर से शुरू होगा।

भारत ने भी अमेरिकी कंपनी बोइंग से 737 मैक्स के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद जानकारी मांगी है। भारत में स्पाइस जेट और जेट एयरवेज ने बोइंग 737 मैक्स का ऑर्डर दिया है। वहीं, जेट के बी737 मैक्स सहित कई विमानों को खड़ा कर दिया गया है। स्पाइसजेट वर्तमान में 13 बी737 मैक्स विमानों का संचालन कर रहा है। इथोपिया में बोइंग विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद भारतीय डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन ने बोइंग से विमान के बारे में जानकारी मांगी है।

रविवार को हुआ क्रैश

गौरतलब है कि इथोपिया की राजधानी अदीस अबाबा से केन्या की राजधानी नैरोबी जा रहा एक यात्री विमान रविवार सुबह दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इथोपियन एयरलाइंस के इस बोइंग 737 विमान में चार भारतीयों समेत 149 यात्री और आठ क्रू मेंबर सवार थे। हादसे में सभी लोगों की मौत हो गई है।

चार महीने पहले भी हुआ था क्रैश

दरअसल, इस हादसे के चार महीने पहले 29 अक्टूबर 2018 को इंडोनेशिया के लायन एयर्स का बी737 मैक्स विमान भी जावा के समुद्र में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था, जिसमें सवार सबी 189 लोगों की मौत हो गई थी। इन हादसों को ध्यान में रखते हुए यह कदम उठाए जा रहे हैं। बताते चलें कि इथोपियन एयरलाइन ने बोइंग 737 मैक्स8 विमानों के बेड़े को खड़ा कर दिया है।