नई दिल्ली । देश से कॉफी निर्यात इस साल जनवरी-फरवरी में 13.26 प्रतिशत बढ़कर 48,330 टन रहा। भारत एशिया का तीसरा सबसे बड़ा उत्पादक तथा निर्यातक हैं। कॉफी बोर्ड ने जानकारी देते हुए बताया कि देश ने पिछले साल इसी अवधि में 42,670 रुपये मूल्य का कॉफी निर्यात किया था। भारत रोबस्टा तथा अरेबिका किस्मों के अलावा इंस्टैंट कॉफी का निर्यात करता है। कॉफी बोर्ड के ताजा आंकड़ों के अनुसार रोबस्टा कॉफी का निर्यात इस साल जनवरी-फरवरी में 28.42 प्रतिशत बढ़कर 34,090 टन रहा। पिछले साल इसी अवधि में यह 26,545 टन था। इसी प्रकार, अरेबिका कॉफी का निर्यात आलोच्य अवधि में 14.39 प्रतिशत बढ़कर 11,156 टन रहा जो इससे पूर्व वर्ष की जनवरी-फरवरी में 9,752 टन था। काफी पुनर्निर्यात भी इस साल के पहले दो महीनों में 13,392 टन रहा जो इससे पूर्व वर्ष की इसी अवधि में 11,516 टन था। हालांकि इंस्टैन्ट कॉफी का निर्यात आलोच्य अवधि में घटकर 3,047 टन रहा जो एक साल पहले 2018 के जनवरी-फरवरी महीने में 5,704 टन था। इस दौरान भारतीय कॉफी के लिए इटली, जर्मनी और रूस सबसे बड़े निर्यातक गंतव्य रहे। देश में कॉफी उत्पादन 2018-19 के फसल वर्ष (अक्टूबर-सितंबर) में 3,19,500 टन रहा जो इससे पूर्व फसल वर्ष में 3,16,000 टन था।