जबलपुर। जिले के किसानों को धान का भुगतान समय पर नहीं मिला है। अन्य समस्याओं का समाधान भी एक हफ्ते की मोहलत के बाद नहीं किया जा सका। आप यदि मुख्यमंत्री व जिले के प्रभारी मंत्री से मिलने का समय दिला सकें तो उनके सामने ही समस्या बता देंगे। यह बात भारत कृषक समाज के अध्यक्ष केके अग्रवाल व उनके साथ पहुंचे किसान प्रतिनिधियों ने कलेक्टर छवि भारद्वाज से कही।
रोने लगे अध्यक्ष
कलेक्टर से बात करते हुए अध्यक्ष केके अग्रवाल ने पहले तो समस्या दूर नहीं करने पर कलेक्टर से सवाल जवाब भी किए। लेकिन अचानक ही आंखों में आंसू आ गए। उन्होंने हाथ जोड़कर कहा कि किसान भटक रहा है।
चना, उड़द, मूंग का भुगतान नहीं
-धान का भुगतान, जिन किसानों को टोकन मिल चुके थे, लेकिन उनकी एंट्री नहीं हो सकी। चना, उड़द, मूंग, अरहर का भुगतान भी नहीं किया गया।
-ब्लैक लिस्ट हो जाने से कई केंद्रों पर गेहूं का पंजीयन नहीं किया जा सका।
-कर्जमाफी वाले किसानों को आधार कार्ड बनाने भटकना पड़ रहा है।
- पुरानी ऋण पुस्तिका को जमा कराया जा चुका है और नई पुस्तिका नहीं दी गई ।
-कलेक्टर ने प्रभारी मंत्री से सर्किट हाउस में मिलने का समय किसान प्रतिनिधियों के लिए तय कराया है। वहीं कैबिनेट बैठक के लिए आ रहे मुख्यमंत्री, खाद्य मंत्री से भी मुलाकात का समय मांगा है।