नई दिल्ली,90 के दशक के खतरनाक विलेन के तौर पर ख्याति प्राप्त कर चुके महेश आनंद 9 फरवरी को मुंबई के अपने अपार्टमेंट में मृत पाए गए. महेश ने फिल्म शहंशाह, मजबूर, स्वर्ग, थानेदार, विश्वात्मा, खुद्दार, विजेता और कुरुक्षेत्र जैसी फिल्मों में काम किया है. हालांकि, पिछले कई सालों से उन्हें फिल्मों में काम नहीं मिल रहा था. 18 साल बाद निर्देशक पहलाज निहलानी ने उन्हें अपनी फिल्म रंगीला राजा में 6 मिनटों का रोल दिया था. इस फिल्म में एक्टिंग करने वाले शक्ति कपूर ने महेश को लेकर बातचीत की.
शक्ति ने बताया, 'महेश काम न मिलने के चलते काफी डिप्रेस रहता था और उसे शराब की लत लग चुकी थी. वो नशे में लोगों को फोन मिला देता था. पहलाज जी ने उसे फिल्म के क्लाइमैक्स से कुछ मिनटों पहले एक रोल दिया था जो उसने अच्छे से निभाया. फिल्म की शूटिंग के दौरान पहलाज जी ने उन्हें शराब पीने से मना भी किया था लेकिन महेश ने उनकी बिल्कुल नहीं सुनी. मैं भी महेश को दारु पीने के लिए मना करता था और मैंने उसे शराब को छोड़ने के लिए भी कहा था क्योंकि कुछ साल पहले बॉलीवुड एक्टर गेविन पैकार्ड  भी शराब की लत के कारण अपनी जिंदगी खो बैठे थे.
गौरतलब है कि महेश मुंबई के वर्सोवा अपार्टमेंट में मृत मिले जब उनकी बहन और पुलिस ने उस अपार्टमेंट में दाखिल होने की कोशिश की. रिपोर्ट के मुताबिक, महेश पिछले दो दिनों से डोरबेल का कोई जवाब नहीं दे रहे थे. उनके मृत शरीर के पास शराब का एक ग्लास भरा मिला. महेश के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला था. पोस्टमार्टम के लिए उनकी बॉडी को कूपर अस्पताल भेजा गया है.