वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने वार्षिक 'स्टेट ऑफ द यूनियन' संबोधन में अपनी उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि उनकी वजह से ही उत्तर कोरिया के साथ एक बड़ा युद्ध टल पाया. गौरतलब है कि ट्रंप ने 2017 में उत्तर कोरिया के साथ युद्ध की धमकी देकर भय पैदा कर दिया था. उस दौरान उन्होंने कहा था कि वह उस देश में ऐसी आग बरसाएंगे जो दुनिया ने कभी नहीं देखी गई होगी. ट्रंप ने अपने भाषण के दौरान उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग-उन के साथ इस महीने वियतनाम में दूसरी शिखर वार्ता की घोषणा भी की.

ट्रंप ने कहा, ''अगर मैं अमेरिका का राष्ट्रपति नहीं चुना गया होता, तो मेरे ख्याल से अभी हम उत्तर कोरिया के साथ एक बड़े युद्ध की स्थिति में होते.'' ट्रंप और किम के बीच पिछले साल पहली शिखर वार्ता सिंगापुर में हुई थी और उसके बाद से ही दूसरी वार्ता की योजनाओं पर काम शुरू कर दिया गया था. इस शिखर वार्ता के बाद से ही उत्तर कोरिया ने परमाणु हथियारों या बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण जैसी कोई उकसावे भरी कार्रवाई नहीं की है लेकिन वह अपने परमाणु हथियार कार्यक्रम को नष्ट करने अभी राजी नहीं हुआ है. इससे पहले दोनों नेताओं के बीच चला वाक युद्ध भी काफी चर्चा में रहा जब ट्रंप ने किम को 'लिटिल रॉकेट मैन' बताया था.