क्या आप भी अक्सर रात में सोने और सेक्स में से क्या चुनें इस उधेड़बुन में फंस जाते हैं। वैसे अगर एक लाइफस्टाइल सर्वे की मानें तो तकरीबन 80 प्रतिशत लोग सेक्स की बजाय नींद को चुनना ज्यादा पसंद करते हैं। अगर आप भी इस बात को लेकर कन्फ्यूज हैं कि सेक्स की बजाय नींद को चुनना नॉर्मल है या नहीं तो यहां हम आपकी मदद करने के लिए तैयार हैं...
अगर आप रात में पूरी नींद नहीं लेते हैं तो अगले दिन आपको सुस्ती महसूस होगी, कॉन्सनट्रेशन लेवल प्रभावित होगा। कम सोने से वजन बढ़ने की समस्या भी होती है और साथ ही आपकी इम्यूनिटी भी कमजोर होती है। इसलिए सेक्स की बजाय नींद को चुनना बिल्कुल नॉर्मल है।
लेकिन एक बात हमेशा याद रखें कि अगर आपके पास पार्टनर है तो सेक्स आपकी लाइफ का एक अहस हिस्सा है। सेक्स करने के भी कई फायदे हैं। इससे स्ट्रेस कम होता है, कैलरी बर्न होती है, हार्ट स्ट्रॉन्ग रहता है और आपके रिश्ते को मजबूती भी मिलती है।
लेकिन ये सवाल अभी भी बना हुआ है कि नींद और सेक्स में से बेहतर क्या है? कुछ एक्सपर्ट्स की मानें तो दोनों ही बेहतर हैं। कुछ का मानना है कि अगर आप अपनी सेक्स लाइफ से खुश नहीं हैं तो अपने दिमाग को रिलैक्स करने के लिए थोड़ी नींद लें वहीं दूसरी तरफ कुछ एक्सपर्ट्स के अनुसार अगर आप पर्याप्त नींद नहीं ले रहे हैं तो सेक्स ट्राई करें। सेक्स करने से हैपी हॉर्मोन रिलीज होता है और कई मामलों में स्लीप थेरपी के लिए सेक्स किया जाता है क्योंकि सेक्स करने के बाद अच्छी नींद आती है।
सेक्स करने से एक घंटे में 300 कैलरी बर्न होती है, तकरीबन इतनी ही कैलरी 30 मिनट के वॉक में भी बर्न होती है। अब सेक्स के फायदे तो आप समझ ही सकते हैं। सेक्स करने से आपके ऑर्गन्स तक फ्रेश ब्लड पहुंचता है और टॉक्सिन्स बाहर निकलते हैं। इसके अलावा सेक्स आपके गुड और बैड कलेस्ट्रॉल को बैलेंस करके रखता है।