अगर आप सोचते हैं कि नहाने का सही या गलत तरीका क्या हो सकता है... जिसे जैसे मन करे वैसे नहा सकता है। अगर आपकी सोच भी कुछ ऐसी ही है तो आप गलत हैं। खाने-पीने और सोने की ही तरह नहाने का भी एक सही तरीका है जिसे अगर फॉलो न किया जाए तो नहाते वक्त लकवा मारने या फिर ब्रेन स्ट्रोक का खतरा बना रहता है। इस तरह की जानलेवा चीजों से बचने के लिए जानें, क्या है नहाने का सही तरीका...
बहुत से लोगों को आदत होती है कि वे बाथरूम में पहुंचते ही सीधे शावर के नीचे खड़े हो जाते हैं या फिर बाल्टी और मग से सीधे सिर पर पानी उड़ेलने लग जाते हैं। यह नहाने का पूरी तरह से गलत तरीका है और इससे ही स्ट्रोक समेत कई दूसरे खतरे सामने आ सकते हैं।
दरअसल, हमारे शरीर में खून का प्रवाह ऊपर से नीचे की तरफ होता है। ऐसे में अगर आप सीधे सिर पर ठंडा पानी डालकर नहाएंगे तो सिर में मौजूद खून की नलिकाएं सिकुड़ने लगेंगी या खून के थक्के जमने लगेंगे। इसलिए नहाते वक्त सिर से पानी डालने की शुरुआत न करे।
सिर पर सीधे पानी डालने से हमारा सिर ठंडा होने लगता है, जिससे हार्ट को सिर की तरफ ज्यादा तेजी से खून भेजना पड़ता है, जिससे या तो हार्ट अटैक या दिमाग की नस फटने की दिक्कत हो सकती है।
ऐसे में नहाने की शुरुआत पैरों से करें। पैर के पंजो पर पानी डालने से शुरुआत करें। इसके बाद जांघ, पेट, हाथ, कंधे से होते हुए सबसे आखिर में सिर पर पानी डालें।