कपल की रिलेशनशिप जब सेक्शुअल स्टेज पर पहुंचती है तो उसके बाद सेक्स भी रिश्ते पर प्रभाव डालना शुरू कर देता है। ऐसा इसलिए क्योंकि यह स्टेज कपल के बीच के बॉन्ड को भी अलग फेज में ले जाती है। वैसे तो कई चीजें इंटीमेसी को प्रभावित करती हैं लेकिन स्मोकिंग को सेक्स लाइफ का सबसे बड़ा 'दुश्मन' कहा जाए तो शायद गलत नहीं होगा।
स्मोकिंग हेल्थ पर कई तरह से असर डालता है, जिसमें से एक ब्लड फ्लो भी है। शरीर में ब्लड फ्लो के प्रोसेस में यह बाधा पैदा करता है, जिसका असर पुरुषों के प्राइवेट पार्ट पर भी पड़ता है। इससे उन्हें इरेक्शन में दिक्कत आती है, जो न सिर्फ सेक्स लाइफ पर बल्कि पुरुषों के कॉन्फिडेंस पर भी बुरा असर डालता है, जो रिलेशनशिप के लिए अच्छा नहीं है।
सिगरेट में मौजूद निकोटीन पुरुषों की सेक्स ड्राइव को भी प्रभावित करता है। उनमें सेक्स की इच्छा कम होने लगती है, जिससे कपल की इंटीमेसी पर असर पड़ता है।
स्मोकिंग की आदत पुरुषों में इनफर्टिलिटी का भी बड़ा कारण है। यह कई स्टडीज में सामने आ चुका है कि तंबाकू एग्स में मौजूद डीएनए को नुकसान पहुंचाने के साथ ही स्पर्म्स को भी कमजोर करता है, जो इनफर्टिलिटी को बढ़ाता है। इससे फैमिली आगे बढ़ाने के प्लान पर भी पानी फिर सकता है।
स्मोकिंग के कारण फेफड़ों पर बुरा असर पड़ता है, इससे व्यक्ति को सांस लेने में परेशानी होती है। सेक्स के दौरान यह परेशानी और ज्यादा तब सामने आती है जब जल्दी थकान होने लग जाती है। इससे सेक्शुअल ऐक्टिविटी पर असर पड़ता है।