बेमेतरा । दो महीने पहले युवक की अंधे कत्ल की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली। जानकारी के अनुसार कठिया निवासी अजय (30) पुत्र रमेश डहरिया का शव खंडुवा के जंगल में मिला था। प्रेम प्रसंग हत्या की मुख्य वजह बनी। जानकारी के अनुसार सिमगा थाना के ग्राम खडुवा के जंगल में 21 अक्टूबर को एक अज्ञात शव की पहचान कठिया निवासी अजय डहरिया के रूप में हुई थी।

मृतक अजय डहरिया की पत्नी अनिता का प्रेम संबंध बेरला के खंघारपाठ निवासी लालकिसुन बंजारे (32) से था। इसे लेकर पति-पत्नी में हमेशा विवाद होता था। पुलिस द्वारा पकड़ने के बाद पत्नी ने अनिता डहरिया ने प्रेमी लालकिशुन बंजारे के साथ मिलकर पति की हत्या करना कबूल किया। आरोपियों के विरूद्घ हत्या का मामला दर्ज कर पुलिस ने मृतक की पत्नी व आरोपी को हिरासत में लेकर जेल भेज दिया।शराब में जहर मिलाया, गमछे से घोंटा था गला

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार 19 अक्टूबर को रात करीब 12 बजे आरोपी पत्नी ने अजय को बुलाकर जहरीली शराब पिलाई थी। फिर प्रेमी के साथ मिलकर गमछे से उसका गला घोंट दिया और लाश को खंडुवा के जंगल में ही फेंक कर फरार हो गए थे। सिमगा थाना प्रभारी हेमप्रकाश नायक ने बताया कि उरला से आरोपी लालकिशुन बंजारे को पकड़ा गया।
वही आरोपी मृतक की पत्नी अनिता डहरिया को उनके मायके से गिरफ्तार किया। इस कार्रवाई में सिमगा थाना प्रभारी हेमप्रकाश नायक, उपनिरीक्षक ओमप्रकाश त्रिपाठी, एसके साहू, बुलाकी लाल आडिल, रामकृष्ण शर्मा, आरक्षक खुमलाल साहू, प्रशांतधर दिवान शामिल थे।

पिता ने वाट्सएप से फोटो देख बेटे के शव की थी पहचान
खंडुवा के जंगल में मिली अज्ञात शव की जानकारी मृतक के पिता रमेश डेहरे को बेटे की हत्या के दो दिन बाद घर नही लौटने पर अनहोनी की आशंका पर उनकी खोजबीन शुरू किए। जहां वाट्सएस में वायरल हुई फोटो को देखने पर मृतक की पहचान की। जहां सिमगा थाने में जानकारी जुटाई।