नौगांव। विधानसभा चुनाव के चलते महाराजपुर विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी से भंवर राजा, कांग्रेस से नीरज दीक्षित, बहुजन समाजपार्टी से राजेश महतों एवं समाजवादी पार्टी से प्रीतम सिंह मैदान में उतरे हुए हैं लेकिन प्रीतम सिंह यादव की साइकिन राजधानी पहुंचने के पहले ही गायब होती हुई दिखाई दे रही है क्योंकि न तो इन्होंने कभी जनता की सेवा की और न ही समाज की। एक दम से विधायकी का ख्बाव देखकर मैदान में कूद पड़े। एक दम से मैदान में उतरने पर क्षेत्र की जनता यही कह रही है कि इन्हें किस बात पर विधायक बनाएं। इनको प्रचार प्रसार करने के लिए कार्यकर्ता नहीं मिल रहे हैं। जहां भी देखाजाता है तो चंद मु_ी भर के लोग ही इनके साथ नजर आते हैं अर्थात इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि साईकिल राजधानी पहुंचने के पहले ही पंचर हो सकती है। सपा के प्रत्याशी प्रीतम सिंह को इन दिनों जनता पसंद नहीं कर रही है। उनके जाते ही लोगों में कानाफूसी शुरु हो जाती है और लोग यह कहते सुने जाते हैं कि ये प्रत्याशी केवल भाजपा और कांग्रेसियों के वोट काटने का काम कर रहे हैं। उनके घटते जनाधार से यह लगता है कि राजधानी पहुंचने से पहले ही साइकिल गायब हो सकती है। अपने पैसे के बल पर चुनाव लडऩे के दंभ भरने वाले सपा प्रत्याशी इन दिनों यह कहते फूले नहीं समा रहे कि जनता उन्हें भरपूर समर्थन दे रही है यह उनकी भूल है। जनता उन्हें बिल्कुल भी पसंद नहीं कर रही है।