छतरपुर। धनपति कांग्रेस प्रत्याशी की घेरा बंदी कर पूरी तरह से अलग-थलग करने की रणनीति पर काम करते हुए भाजपा प्रत्याशी अर्चना गुड्डू सिंह के साथ-साथ चुनाव प्रचार के लिए भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता जुझार सिंह बुन्देला, सत्यभान शुक्ला, कन्हैयालाल गुप्ता, नारायण महेश्वर काले, सूर्य प्रताप सिंह बुन्देला चीनी राजा भी मैदान में उतर आये हैं और भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में आकर जगह-जगह बैठकों का दौर शुरू कर दिया है। एक तरफ जहां पुष्पेन्द्र प्रताप सिंह गुड्डू भैया विधायक पद की उम्मीदवार अर्चना गुड्डू सिंह लगातार तीन से चार ग्रामों का दौरा कर मतदाताओं से रूबरू हो रहे हैं तो वहीं पार्टी के वरिष्ठ नेता डोर टू डोर सम्पर्क के साथ ही कार्यकर्ताओं की बैठकें लेकर उनमें ऊर्जा का संचार करने में जुट गए हैं। भाजपा की इस रणनीति से कांग्रेस प्रत्याशी पूरी तरह से हताश होकर फर्जी फेसबुक आईडियों के माध्यम से भाजपा नेताओं को बदनाम करने का घिनौना षड़यंत्र रचने लगे हैं।
शनिवार को अर्चना गुड्डू सिंह ने वार्ड नं. 2 एवं 3 के साथ ही मुख्यालय से सटे ग्राम सौंरा और मौराहा तथा पुष्पेन्द्र प्रताप सिंह गुड्डू भैया ने वार्ड क्रमांक 33 के साथ ही पठापुर और हतना में घर-घर जाकर संपर्क किया तथा अर्चना सिंह के लिए वोट मांगे। विधायक पद की उम्मीदवार अर्चना गुड्डू सिंह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ता आधारित पार्टी है और हमारे दल का प्रत्याशी कमल का फूल होता है तथा पार्टी चुनाव लड़ती है। वहीं कांग्रेस परिवारबाद के सहारे राजनीति करती है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने छतरपुर के लिए विश्वविद्यालय से लेकर मेडिकल कॉलेज खोलने तक की स्वीकृति दी है तो वहीं फोर लेन का काम तेजी से चल रहा है। उन्होंने कहा कि आज पूरे छतरपुर शहर में सीमेंट कंक्रीट के मार्ग हैं, डिवाईडर हैं, शानदान ऑडिटोरियम है, व्यवस्थित कचरा प्रसंस्करण केन्द्र है। यह सब मेरे कार्यकाल में नगर पालिका द्वारा किया गया है। कांग्रेस बदलाव की बात करती है लेकिन यह नहीं बताती कि वह बदलाव कर प्रदेश को फिर जर्जर सड़कों और 18 घंटे की बिजली कटौती की ओर ले जाना चाहती है या फिर किसानों को 18 प्रतिशत ब्याज की ओर। क्योंकि कांग्रेस ने अपने शासन काल में पूरे प्रदेश को अंधेरा और गड्ढा युक्त सड़के ही दी थीं। कांग्रेस भाजपा के विकास को पचा नहीं पा रही है और उसे सत्ता की भूंख खाये जा रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस जब-जब सत्ता में आई तब-तब केवल कांग्रेस नेताओं का स्वयं का विकास हुआ। अस्पताल की आलीशान बिल्डिंग भाजपा की ही देन है। उन्होंने कांग्रेस और उसके प्रत्याशी से सवालिया लहजे में पूंछा कि वह बतायें कि उन्होंने अपने शासन काल में आम जनता को लाभ पहुंचाने वाली कौन-कौन सी योजनाएं लागू की थीं।